Home Remedies For Hemorrhoid: बवासीर के लिए आयुर्वेदिक औषधि

Home Remedies For Hemorrhoid: यह आर्टिकल उनलोगो के लिए है जिन्हे बवासीर (Hemorrhoid) की समस्या रहती है। इस लेख में उन सभी आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में बताया गया है जिससे बवासीर को ठीक किया जा सकता है। तो चलिए जानते है Hemorrhoid Home Remedies के बारे में।

Home Remedies For Hemorrhoid
Home Remedies For Hemorrhoid

अतिबला : Home Remedies For Hemorrhoid

इसको कंघी के नाम से भी जाना जाता है, यह एक श्वेत मखमली रोमावरण युक्त क्षुप है। जिसकी ऊंचाई 1 से 2 मीटर होता है। अतिबला के पुष्प पीतवर्णी होता है तथा फल चक्राकार गोल कंघी के जैस होता है। बवासीर के लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में अतिबला के बीज का चूर्ण का सेवन करने से लाभ होता है।

चिरचिरा : बवासीर के उपचार के लिए आयुर्वेदिक औषधि

यह एक वर्षीय गुल्म होता है, जिसकी उचाई 1 से 3 फुट होता है। इसके पुष्प पीले और गुलाबी रंग के होते है। बवासीर के उपचार के लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में चिरचिरा के बीज का चूर्ण का सेवन करने से लाभ प्राप्त होता है।

अतिविषा : बवासीर के ईलाज के लिए आयुर्वेदिक औषधि

इसका छुप लगभग 3 से 4 फुट ऊचा होता है, तथा इसके पुष्प नीले या हरित नीलवर्णी होते है। बवासीर के ईलाज के लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में अतिविषा के कंद का चूर्ण का सेवन करने से फायदा होता है।

बेल 

इसे बिल्व भी कहा जाता है, यह एक चिरस्थायी पतनशील चिकना लघुवृक्ष होता है। इसकी शाखाओं पर लम्बे लम्बे काटे लगे होते है। इसके पुष्प श्वेत हरिताभ रंग के होते है तथा फल बीजीमांसल होता है। बवासीर के लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में बेल के फल का सरबत पीने से लाभ होता है।

पियाज 

इसको पलांडु भी कहा जाता है, इसकी गुल्म छोटी होती है। इसके पत्र पोली नलिकाओं जैसे होती है, पुष्प गोल गुम्मजदार सफेद गुच्छों में होते है। औषधि के रूप में इसका पत्र और कंद इस्तेमाल किया जाता है। बवासीर के लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में लाल कंद का सेवन करने से फायदा होता है।

घृतकुमारी : बवासीर के उपचार के लिए आयुर्वेदिक औषधि  

इसे ग्वारपाठा के नाम से भी जाना जाता है, इसके गुल्म काफी छोटे होते है। इसके पुष्प गुलाबी या लाल रंग के होते है। बवासीर के उपचार के लिए घृतकुमारी के पत्रों के गूदे का सेवन करने से अर्श में फायदा होता है।

Home Remedies For Hemorrhoid
Home Remedies For Hemorrhoid

जिमी कंद

इसको सुरन कंद के नाम से भी जाना जाता है, इसकी गुल्म काफी मजबूत होती है। इसके पत्ते बड़े आकर के लगभग 1 से 3 फूट चौड़े होते है। जिमी कंद एक विशाल भूमिजन्य कन्द होता है। बवासीर के उपचार के लिए इसके कंद का सेवन करने से लाभ मिलता है।

Home Remedies For Hemorrhoid
Home Remedies For Hemorrhoid

रक्तपुष्पी 

यह एक छोटा चिरस्थायी गुल्म होता है, जिमसे दुग्ध रस निकलता है। रक्तपुष्पी के पुष्प पीले नारंगी रंग के होते है। बवासीर के इलाज के लिए रक्तपुष्पी के पंचांग के सेवन फायदेमंद होता है।

नीम

इसका वृक्ष सघन विशाल 35 से 45 फूट ऊँचा होता है, जिसकी शाखाएं काफी फैली हुए होती है। नीम के पुष्प छोटे छोटे सफेद रंग के शुगन्धित होते है। औषधि के रूप में इसके पंचांग, मूल की छाल, काण्ड की छाल, पत्र, पुष्प और फल का इस्तेमाल होता है। बवासीर के उपचार लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में इसके बीज को गुड़ साथ सेवन करने से लाभ मिलता है।

खैखारवाल

इसे रक्त कंचन या कोविदवार के नाम से भी जाना जाता है, इसका वृक्ष मध्यम कद का होता है। रक्त कंचन का छाल बदामी रंग का होता है तथा पुष्प गुलाबी बैगनी रंग के होते है। बवासीर के इलाज के लिए इसके पुष्प का चूर्ण का सेंवन करने से लाभ प्राप्त होता है।

कचनार

इसका वृक्ष मध्यम कद का होता है, जिस पर द्विखंडी पत्र लगे होते है। कचनार का फूल गुलाबी बैगनी रंग का होता है जो काफी सुंगधित होता है। बवासीर के उपचार हेतु कचनार के सूखी कलियों का चूर्ण का सेवन करने से लाभ प्राप्त होता है।

पलाश 

इसके वृक्ष की औसतन उचाई 15 मीटर तक होती है, यह एक मध्यम कद का पतनशील वृक्ष है। इसके पते खुरदरे त्रिपत्री होती है, तथा पुष्प चमकीले नारंगी रक्तवर्णी होते है। बवासीर के उपचार के लिए पलाश के बीज का चूर्ण का सेवन करने से फयदा होता है।

चकवड़

यह एक वर्षीय छोटा लगभग 30 से 90 से. मी. ऊँचा गुल्म होता है, जिसके पत्ते सयुक्त रूप से तीन जोड़ी होते है। इसके पुष्प जोड़े में पीतवर्णी रंग के होते है। बवासीर के लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में इसके बीज का चूर्ण का सेवन करने से लाभ मिलता है।

हड़जोड़

इसकी लता सूत्रारोहि होती है, कांड चतुष्कोणि होते है। औषधि के रूप में इसके मूल, कांड एवं पत्र का इस्तेमाल किया जाता है। बवासीर के उपचार के लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में हड़जोड़ के स्वरस का सेवन करने से फायदा होता है।

यह भी पढ़े :

Home Remedies For Stones: पथरी के लिए आयुर्वेदिक औषधि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 Comment