New Hit And Run Law राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन कानून में ऐसा क्या हुआ बदलाव जिसके कारण हो रहे है विरोध प्रदर्शन?

New Hit And Run Law राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन: जबसे इस Law में नया परिवर्तन किया गया है ट्रक ड्राइवर इस कानून का जबरस्त बिरोध कर रहे है। यह बिरोध धीरे धीरे राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन का स्वरूप लेता जान पड़ रहा है। भारतीय न्याय संहिता में हिट-एंड-रन कानून के विरोध का असर अब पुरे भारत में दिखाई देने लगा है।

New Hit And Run Law राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन

भारत के दिल्ली शरह सहित कई शहरो में २०२४ की शुरुआत भारी ट्रैफिक जाम के साथ हुई है, नागरिको ने ट्रैफिक जाम और पेट्रोल पम्प पर लगी लम्बी कतारों का फोटो और वीडियो सोसल मिडिया पर खूब साझा कर रहे है। राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन का असर इस कदर है कि एंबुलेंस भी घंटों जाम में फंसी दिखाई दिए, और इसका मुख्य कारण ट्रक ड्राइवरों का Hit-And-Run Law का राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन है।

ट्रक ड्राइवरों ने देश भर के राज्यमार्गो और प्रमुख सड़को को किया अवरुद्ध

इस New Hit And Run Law के खिलाफ ट्रक ड्राइवरों और अन्य व्यापारी संगठनों ने देश भर के राज्यमार्गो और प्रमुख सड़को को अवरुद्ध करते नजर आ रहे है। साथ ही सरकार के खिलाफ राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन के कारण पुरे देश में यातायात पर इसका असर दिखाई दे रहा है, साथ ही नागरिको को यह डर भी सताने लगा है कि कहीं पेट्रोल/ डीजल की किलत ना हो जाये, और इसक असर यह देखा जा रहा है कि नागरिकों का पेट्रोल पम्प पर काफी भीड़ जमा होने लगी है।

Law में ऐसा क्या हुआ बदलाव?

ऐसा नहीं है कि यह भारतीय न्याय संहिता में हिट-एंड-रन कानून पहली बार लाया गया है, बल्कि इसमें कुछ बदलाव किये गए है, जससे सबसे ज्यादा ट्रक ड्राइवर असंतोष व्यक्त करते नजर आ रहे है। यह Law एक अपराधिक सहिंता है जो माजूदा भरतीय दंड संहिता (IPC) की जगह लेगी।

नए कानून में सड़क दुर्घटना के मामलों में जुर्माना बढ़ाकर 10 साल तक कर दिया गया है। भारतीय दंड संहिता में सड़क दुर्घटना में गलती से किसी व्यक्ति की मौत पर अधिकतम 2 साल की जेल की सजा का प्रावधान था।

New Hit And Run Law राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन
New Hit And Run Law राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन Image Source ndtv

इस नियम में बदलाव स्वरूप सड़क दुर्घटना के मामलों में जुर्माना बढ़ाकर 10 साल तक का कर दिया गया है, जो की पहले सड़क दुर्घटना में मौत पर अधिकतम 2 साल की जेल का प्रावधान था।

इस नियम में बदलाव के अनुसार यदि अपराधी घटना की तुरंत रिपोर्ट करने में विफल पाया जाता है या घटना स्थल से भाग जाता है, तो उसकी कारावास की अवधि दस साल तक बढ़ सकती है और जुर्माना 7 लाख रुपए भी लिया जा सकता है।

राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन में समलित ट्रक ड्राइवरों की चिंता?

इस राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन में समलित ट्रक ड्राइवरों का यह मानना है की यह Law बड़े वाहनों के प्रति पक्षपाती और काफी कठोर है। महाराष्ट्र विरोध प्रदर्शन में मौजूद एक ड्राइबर का कहना है कि नया हिट-एंड-रन कानून में 10 साल तक की जेल और 7 लाख रुपये का जुर्माना है, और

और ट्रक ड्राइबर की वेतन बहुत ही कम होता है और इतना बड़ी जुर्माना कैसे दे सकते हैं? प्रदर्शन में समलित ट्रक ड्राइवरों/प्रदर्शनकारियों को यह भी चिंता है की यदि घटना स्थल से तुरंत ना भागा गया तो कही भीड़ ही न उन्हें मार डाले।

उनका कहना है कि यदि घायलों को अस्पतालों तक पहुंचाने के लिए वे रुकते है तो भीड़ का भी उन्हें सामना करना पड़ सकता है। जिसमे उनके जान की भी जोखिम काफी बढ़ सकता है।

ऐसा शोसल सोशल मीडिया पर लोगों ने दावा किया है कि कुछ राज्यों में ड्राइवरों में ट्रक चालक, निजी बस चालक और कुछ मामलों में सरकारी बस चालक के साथ कैब ड्राइवर भी इस New Hit And Run Law राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन में शामिल हो गए है। Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *